Forex ट्रेडिंग

एक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्या है?

एक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्या है?
FTX विफल हो गया क्योंकि कंपनी का एक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्या है? पूरा तंत्र अव्यवस्थित था। कंपनी के भीतर भरोसेमंद वित्तीय जानकारी की उपस्थिति का अभाव था।

Crypto Exchanges: कितने सेफ हैं भारत के क्रिप्टो एक्सचेंज?

अगर कोई एक्सचेंज अपना काम-धंधा समेट ले या सरकार ही उसके कामकाज पर रोक लगा दे, तब उसके क्रिप्टो इन्वेस्टर्स को अपनी जमा-पूंजी से हाथ धोना पड़ सकता है.

अब अगर आपने क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrencies) खरीदी तो फिर उसे स्टोर करने के लिए जरूरत होती है डिजिटल वॉलेट की. ये वॉलेट दो तरह के होते हैं - हॉट वॉलेट, जो इंटरनेट के जरिए आपके डेस्कटॉप एक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्या है? या मोबाइल फोन से जुड़े होते हैं. ज्यादातर एक्सचेंज क्रिप्टोकरेंसी स्टोर करने के लिए यही सुविधा देते हैं. दूसरे वॉलेट हैं कोल्ड वॉलेट, जो इंटरनेट से नहीं जुड़े होते और क्रिप्टोकरेंसी स्टोर करने का सबसे सुरक्षित विकल्प है. लेकिन कोल्ड वॉलेट की प्राइवेट कीज (Private Keys) आपको याद रखनी होती है क्योंकि अगर आप इसे भूल गए तो फिर स्टोर की गई क्रिप्टोकरेंसी को भी भूल जाइए.

क्रिप्टो एक्सचेंज की भूमिका बेहद अहम (Role of Crypto Exchanges)

ये सारे डिटेल्स हमने आपको इसलिए बताए ताकि आप समझ जाएं कि एक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्या है? पूरा क्रिप्टो यूनिवर्स दरअसल डिजिटल है और इस वजह से इसकी सिक्योरिटी के लिए सारे स्टेकहोल्डर्स को मिलकर काम करना होता है. हैकर्स इसी फिराक में लगे रहते हैं कि कैसे वे इस सिक्योरिटी सिस्टम को तोड़ें और करोड़ों-अरबों की डिजिटल करेंसी हड़प लें. क्रिप्टो एक्सचेंज ऐप्स इन्वेस्टर और क्रिप्टो मार्केट के बीच इंटरफेस का काम करते हैं, इसलिए सुरक्षित एक्सचेंज चुनना क्रिप्टो इन्वेस्टमेंट के जोखिम भरे सफर का पहला कदम है. ऐसे में आपकी कोशिश होनी चाहिए कि आपका एक्सचेंज कम से कम आपके इन्वेस्टमेंट पर फ्रॉड इंश्योरेंस जरूर दे. इस सेफ्टी फीचर से यूजर को इस बात का भरोसा रहता है कि अगर एकाउंट हैक हो गया और क्रिप्टोकरेंसी चुरा ली गई, तब एक्सचेंज सारे नुकसान की भरपाई का एक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्या है? जिम्मा लेगा.

16 अनरजिस्टर्ड विदेशी क्रिप्टो एक्सचेंजों पर प्रतिबंध लगाएगा ये देश, क्या है वजह?

16 अनरजिस्टर्ड विदेशी क्रिप्टो एक्सचेंजों पर प्रतिबंध लगाएगा ये देश, क्या है वजह?

Markets And Markets की एक रिपोर्ट के मुताबिक, क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) मार्केट साइज के 2021 में 1.6 बिलियन डॉलर से बढ़कर 2026 तक 2.2 बिलियन डॉलर, 7.1% की CAGR से बढ़ने की एक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्या है? उम्मीद है.

दुनियाभर के अलग-अलग देशों में क्रिप्टोकरेंसी सरकार या मौद्रिक अधिकारियों से लेनदेन के माध्यम के रूप में अपना अधिकार प्राप्त करने की कोशिश कर रही है. इसलिए कई देशों ने कई बार क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाया है. कुछ देशों ने बिटकॉइन अकाउंट होल्डर्स को इसके एक्सचेंज को लेकर चेतावनी दी हुई है.

Binance-FTX Deal : Bitcoin सहित सभी क्रिप्टोकरेंसी में आई 16% तक की गिरावट, क्या है मुद्दा?

बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज एफटीएक्स (crypto exchange FTX) के फाइनेंशियल क्राइसिस में फंसने के बाद क्रिप्टो में गिरावट देखने को मिल रही है

Cryptocurrencies : बिटकॉइन, इथेरियम, पॉलीगोन सहित ज्यादातर क्रिप्टोकरेंसीज में भारी बिकवाली के चलते पिछले 24 घंटों के दौरान 16 फीसदी तक गिरावट देखने को मिली है। एक बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज एफटीएक्स (crypto exchange FTX) के फाइनेंशियल क्राइसिस में फंसने के बाद क्रिप्टो में गिरावट देखने को मिल रही है। वहीं, बाइनेंस – एफटीएक्स डील रद्द होने से संकट और भी बढ़ गया है।

क्या है मुद्दा?

खबरों के मुताबिक, हाल में बाइनेंस के सीईओ चैंगपेंग झाओ और एफटीएक्स के फाउंडर-सीईओ सैम बैंकमैन-फ्रायड ने सौदे का ऐलान किया। इसके अलावा बैंकमैन फ्रायड ने यह भी ऐलान किया कि बाइनेंस एफटीएक्स के अमेरिका से बाहर के कारोबार को खरीदेगी, लेकिन यह सौदे कितने में है, इसका खुलासा नहीं हुआ। इस ऐलान के बाद एफटीएक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म की नेटिव टोकन (FTT) के भाव 24 घंटे में 76.4 फीसदी टूट गए।

क्रिप्टो एसेट्स खरीदने के लिए खर्च की गई मोटी रकम

फंड ट्रेल की जांच करते हुए ईडी ने पाया कि फिनटेक कंपनियों ने क्रिप्टो एसेट्स खरीदने में मोटा पैसा खर्च किया और फिर उन्हें विदेशों में ट्रांसफर कर दिया. इन कंपनियों और इनके वर्चुअल एसेट्स को फिलहाल ट्रेस नहीं किया जा सकता. क्रिप्टो-एक्सचेंज को समन जारी कर दिया गया है.

जांच में पाया गया कि अधिकतम रकम को वजीरएक्स एक्सचेंज को भेज दिया गया था और इस तरह खरीदे गए क्रिप्टो-एसेट्स को अज्ञात विदेशी वॉलेट में ट्रांसफर कर दिया गया था.

FTX के पतन से क्रिप्टोकरेंसी के बारे में क्या पता चलता है?

क्रिप्टोकरेंसी इस विचार का दावा करती है कि धन और वित्त पर सरकार के नियंत्रण के बिना दुनिया बेहतर होगी। एफटीएक्स के पतन से पता चलता है कि वित्त पर सरकारी विनियमन मुद्रा के पूर्ण पतन को रोकने में मदद करेगा।

FTX जैसी अपंजीकृत क्रिप्टो फर्मों के ग्राहकों के लिए कोई विशेष सुरक्षा नहीं है। हालाँकि कुछ लोगों को उनका पैसा वापस मिल सकता है, लेकिन सभी को अपना सारा पैसा नहीं मिल पाएगा। FTX के संस्थापक के अनुसार, प्रत्येक जमाकर्ता को भुगतान करने के लिए 8 बिलियन अमरीकी डालर की पूंजी की आवश्यकता होगी। हालाँकि, वर्तमान में FTX के सभी जमाकर्ताओं के बारे में विवरण प्रदान करने वाला कोई दस्तावेज़ नहीं है और कंपनी की बैलेंस शीट की सटीकता के बारे में भी संदेह है।

रेटिंग: 4.84
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 94
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *